Short Moral Stories in Hindi for kids of Class 1:-

Introduction -
                             Finding short moral stories in Hindi for class 1 is a very hectic process. There are lots of options available for short stories in Hindi but out of those fetching out those short stories in Hindi with moral which can be understood by little kid like in class 1 is thought, So here we are 3 nice Hindi short stories with moral values for kids which can be easily understood by kids of class 1, class 2, class 3, class 5, etc,,.


short stories in Hindi for kids of class 1 with moral values



  • Index
    1. -
    2. Introduction
    3. Short stories in Hindi with Morals values
      • गधा और धोबी
      • शेर और तीन बैल
      • परिचय से मिलता है साहस
      • दोस्त की मदद
    4. Conclusion





# 1st of Short Moral Stories in Hindi for Class 1-      

गधा और धोबी


एक बार एक निर्धन धोबी था। उस धोबी के पास एक गधा था । गधा काफी कमजोर था क्योंकि उसे बहुत कम खाने को मिला पता था। एक दिन, धोबी को एक मरा हुआ बाघ मिला । उसने सोचा कि "मैं गधे के ऊपर इस बात की खाल डाल दुँगा और उसे पड़ोसियों के खेत में चढ़ने के लिए छोड़ दिया करूंगा । किसान समझेंगे कि वह सचमुच का बाघ है , और उसे से डर कर दूर रहेंगे और गधा आराम से खेत चर लिया करेगा ।"

धोबी ने तुरंत अपनी योजना पर अमल कर डाला।
उसकी योजना काम कर गई।

एक रात, गधा खेत में चर रहा था कि उसे किसी गधी के रेंकने ने की आवाज सुनाई दी । उस आवाज को सुनकर वह इतने जोश में आ गया कि वह खुद भी जोर जोर से रेंकने लगा।

गधे की आवाज सुनकर किसानों को उस गधे की असलियत का पता लग गयी। और उन्होंने गधे की खूब पिटाई की।

शिक्षा-
इसलिए कहा गया है कि अपनी सच्चाई नहीं छुपानी चाहिए।




# 2nd of Short Stories in Hindi with Moral values - 

शेर और तीन बैल


 एक बार की बात हैं। तीन बैल  आपस में बहुत अच्छे दोस्त थे। के साथ मिलकर घास चरने जाते और बिना किसी रोग दोष के हर चीज आपस मे बाँटते थे। एक शेर काफी दिनों से उन तीनों के पीछे पड़ा था, लेकिन वह यह जानता था कि जब तक यह तीनों एक झूठ है , तब तक वह उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता ।

शेर ने उन तीनों को एक-दुसरे से अलग करने की चाल चली ।

उसने देलू के बारे में अफवाह उड़ानी शुरू कर दी।
अफवाह सुन सुन कर उन तीनों के बीच गलतफहमी पैदा हो गई।

धीरे-धीरे वे एक-दूसरे से जलने लगे । आखिरकार एक दिन उनमें झगड़ा हो गया  और मैं अलग अलग रहने लगे । शेर के लिए यह बहुत अच्छा अवसर था। उसने इसका पूरा लाभ उठाया और एक-एक करके तीनों को उसने मार डाला और खा गया ।

शिक्षा  - एकता में शक्ति होती है ।




# 3rd of Short Moral Stories in Hindi for Class 1 - 

परिचय से मिलता है साहस 



एक जंगल में एक लोमड़ी रहती थी। एक दिन उसने अपने जीवन में पहली बार किसी शेर को देखा। लंबा अयाल, भयानक  शरीर, डरावनी दहाड़, राजा की तरह चाल ढाल देखकर लोमड़ी डर गई। 

वह वहीं पर बेहोश होकर गिर पड़ी। अगले दिन फिर वही शेर उसे दिखाई दिया। वह अब भी डरी हुई थी, लेकिन उसने साहस जुटाया और अपने डर को छुपाने में की कोशिश की। जल्द से जल्द वह वहां से भाग गई।

तीसरे दिन स्थिति पूरी तरीके से बदल गई। लोमड़ी सीधी शेर के पास पहुंची और बोली जय हो महाराज, सब ठीक-ठाक है नास और शेर से बिल्कुल परिचितों की तरह बात करने लगी। और शेर से बिल्कुल डर नहीं लग रहा था। पिछले 2 दिन से लगातार शेर को देख देख कर वह उससे परिचित हो गई थी ।

शिक्षा-

इसलिए कहा गया है परिचित होने में और साहस मिलता है।




# 4th of short stories in Hindi with moral values.

दोस्त की मदद

किसी तालाब में एक कछुआ रहता था। तालाब के पास माँद में रहने वाली एक लोमड़ी से उसकी दोस्ती हो गई।
                                                एक दिन वे तालाब के किनारे गपशप कर रहे थे कि एक तेंदुआ वहाँ आया। दोनों अपने-अपने घर की ओर जान बचाकर भागे। लोमड़ी तो सरपट दौड़कर अपनी माँद में पहुँच गई पर कछुआ अपनी धीमी चाल के कारण तालाब तक नहीं पहुँच सका। तेंदुआ एक छलाँग में उस तक पहुँच गया। कछुए को कहीं छुपने का भी मौका न मिला।
                                 
                         तेंदुए ने कछुए को मुँह में पकड़ा और उसे खाने के लिए एक पेड़ के नीचे चला गया लेकिन दाँतों और नाखूनों का पूरा जोर लगाने पर भी कछुए के सख्त खोल पर खरोंच तक नहीं आई। लोमड़ी अपनी माँद से यह देख रही थी। उसने कछुए को बचाने की तरकीब सोची।
                 
                                                   उसने माँद से झाँककर बाहर देखा और भोलेपन के साथ बोली  तेंदुए जी, कछुए के खोल को तोड़ने का मैं आसान तरीका बताती हूँ। इसे पानी में फेंक दो। थोड़ी देर में पानी से इसका खोल नरम हो जाएगा। चाहो तो आजमा कर देख लो ! तेंदुए ने कहा ठीक है, अभी देख लेता हूँ ! यह कहकर उसने कछुए को पानी में फेंक दिया। बस फिर क्या था, गया कछुआ पानी में !


शिक्षा- ज़रूरत में काम आने वाला दोस्त ही सच्चा दोस्त होता है



Conclusion - 

                    All of these four short stories in Hindi gives some lesson to the readers, and these stories are so small and easy to understand that a small kid of class 1 can understand it's moral easily. For more such short stories in Hindi with moral values visit our website's short story section. 






Post a Comment

Previous Post Next Post